क्या नेट पर अपनी पहचान छुपाई जा सकती है

पिछली पोस्ट में हमने जाना कि किसी नेटवर्क (या इंटरनेट) पर आपकी डिवाइस का IP ऐड्रेस आपकी पहचान होता है। लेकिन क्या ऐसा भी हो सकता है कि इंटरनेट पर आप अपनी पहचान को छुपा सकें ? यानि अपना IP ऐड्रेस भी छुपा सकते हैं ?

तो जनाब, इस सवाल का जवाब है हां। इंटरनेट पर आपकी पहचान एक हद तक छुपाई जा सकती है। अब यह मत पूछना कि केसे। लेकिन अपनी पहचान कोई क्यूं छिपाने लगा भला ?

आपमें से कुछ दोस्त शायद इसके बारे में जानते भी हों, कई वेबसाइटें जो आपके देश या क्षेत्र में सामान्यतया नहीं देखी जा सकतीं, उन्हें इस तरीके से एक्सेस किया जा सकता है। जैसे कि यदि आप भारत में रहते हैं, और अपने ब्राउजर की ऐड्रेस बार में google.com लिखकर ऐंटर प्रेस करते हैं, तब भी जो वेबसाइट खुलती है, वह google.com नहीं google.co.in होती है। ऐसे कई उदाहरण दिये जा सकते हैं।

कुछ सेवाएं जो कि कुछ वेबसाइट्स कुछेक खास देशों में ही देती हैं, उन्हें एक्सेस किया जा सकता है।

आपकी वेबसाइट किसी दूसरे देश या किसी दूसरी लोकेशन से कैसी दिख रही है, यह जांचने के लिए भी इसका प्रयोग किया जाता है।

लेकिन इसका दूसरा और अंधेरा पहलू भी है। इस तकनीक को किसी का कम्प्यूटर हैक करने या ऑनलाइन धोखाधड़ी करने के लिए भी लोग प्रयोग करते हैं। ऐसा नहीं कि इसे पकड़ा नहीं जा सकता, या फिर इसका पता नहीं लगाया जा सकता, पर चोर चोरी करके निकल जाए, फिर उसे पकड़ा जाता है तो यह सबसे अच्छी बात नहीं कही जा सकती। खैर...

अब बात करते हैं इसके सबसे सीधे और आसान (लेकिन नैतिक दष्टि से उचित) रास्ते की। दो शब्द आपने सुन रखे होंगे- Proxy Server प्रॉक्सी सर्वर के बारे में मुझे नहीं लगता कि ज्यादा कुछ बताने की जरूरत हो, क्योंकि यह नाम से ही स्पष्ट हो जाता है। Proxy यानि कि छद्म । यह तकनीक आपको ऐसे संसाधन उपलब्ध कराती है, जिससे कि आप (दुनिया भर की नजर में) किसी अन्य सर्वर के मार्फत कनेक्ट दिखाई देते हैं। यानि कि आप भारत के किसी सर्वर (मानाकि BSNL के सर्वर के मार्फत) वास्तविक रूप से कनेक्ट हैं लेकिन इस तकनीक से वांछित वेबसाइट या अन्य लोगों को आप किसी दूसरी जगह से (शायद किसी अन्य देश से) कनेक्ट प्रतीत होंगे। स्वाभाविक है कि किसी दूसरे सर्वर से कनेक्ट दिखने पर आपका IP ऐड्रेस भी कुछ और ही दिखाई देगा।

2 टिप्‍पणियां:

बेनामी ने कहा…

मुझे तो इंटरनेट के बारे कुछ भी मालूम नही मै क्या लिखू पर ये जरुर कहूंगा के आप बडे होशियार है

दीपक शर्मा (दाढ़ीवाला) ने कहा…

हौसला अफजाही के लिए धन्यवाद, लेकिन ऐसा नहीं है कि मैं होशियार हूं। बस इतना जरूर है कि दो चार बातें, जो मैंने कहीं से सीख ली हैं, उन्हें सबसे बांटना चाहता हूं, ताकि दूसरे भी सीख सकें और मुझ जैसे और लोगों को कुछ दूसरी चीजें सिखा सकें।

एक टिप्पणी भेजें

आपकी टिप्पणी से मुझे कुछ बेहतर लिखने की प्रेरणा व हिम्मत मिलेगी, यकीन मानिए मैं चाहता हूं कि आप मेरे लेखन में कमी भी निकालें और मार्गदर्शन भी करें। कृपया अपनी राय यहां जरूर अंकित करें।

अभी तक इतनी बार यह देखा गया